Caneup

गन्ने की मोटाई लम्बाई कैसे बढाए ?

गन्ने की मोटाई लम्बाई कैसे बढाए :- उत्तर प्रदेश में गन्ने की फसल को लेकर एक चौंकाने वाली बात सामने आई है, कई किसान गन्ने की उपज बढ़ाने के लिए शराब और डिटर्जेंट का इस्तेमाल कर रहे हैं. दरअसल , कृषि विशेषज्ञों के अंतर्गत इन तथ्यों का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है, लेकिन फिर भी किसान इस नई नई ‘तकनीक’ का धड़ल्ले से उपयोग कर रहे हैं. किसान भाइयों का मानना है कि शराब एवं डिटर्जेंट का गन्ने की फसल पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है। फसल में कीट नहीं लगने से उपज में बहुत वृद्धि होती है। कुछ किसान महंगे कीटनाशक होने की जगह पर यूरिया में ऑक्सीटोसिन मिला रहे हैं। मेरठ ग्रामीण इलाकों में अधिकतर असर दिखाई पड़ रहा है।

गन्ने की मोटाई लम्बाई कैसे बढाए

गन्ना बोने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

सबसे पहले किसान भाई अपनी फसल से खरपतवार को अलग कर लें।
गन्ने की खेती में किसान निराई अथबा गुड़ाई कर खरपतवार निकाल सकते हैं।
बिजाई से पहले देशी हल से 5-6 जुताई कर लेनी चाहिए, क्योंकि बिजाई के टाइम खेत में नमी होना आबश्यक है।

गन्ने की खेती में सिंचाई का पर्याप्त प्रबंधन करें।

गन्ने की मोटाई लम्बाई कैसे बढाए :गन्ने की खेती करने वाले किसान भाई इसकी मोटाई अथबा लंबाई बढ़ाने के लिए बिभिंन तरह की खाद एवं उर्वरकों का इस्तेमाल करते हैं। कई बार खाद और खाद की सही जानकारी न होने के कारण किसानों को उचित लाभ नहीं मिल पाता है। अगर आप गन्ने की खेती कर रहे हैं और गन्ने की मोटाई और लंबाई बढ़ाना चाहते हैं तो इस वीडियो को ध्यान से देखें। अगर आपको इस वीडियो में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो हमारे इस पोस्ट को लाइक करें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के तहत पूछ सकते हैं। कृषि से सम्बंधित जानकारी के लिए whatsapp GROUP से जुड़ सकते हैं।

गन्ने को गाढ़ा करने के लिए क्या डालें?

किसानों के अनुसार कोराजन गन्ने की खेती के लिए एक बेहतरीन कीटनाशक है। इसके प्रयोग से न केवल गन्ने की फसल अच्छी होती है, बल्कि गन्ना लम्बा और मोटा भी पैदा होता है। इसलिए इन दिनों किसान गन्ने की फसल के लिए कोरजन का जमकर इस्तेमाल कर रहे हैं।

गन्ने की खेती के लिए किस प्रकार की जमीन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए?

गन्ना बोने से पहले जमीन की अच्छी तरह से जुताई एवं उपचार कर लेना चाहिए क्योंकि जिस खेत में गन्ने की फसल लगाई जा रही हो उस खेत को बार बार छेड़ा नहीं जाना चाहिए और किसान को यह ध्यान रखना चाहिए कि खेत समतल हो ना कि ऊपर और नीचे हो। इसलिए पहाड़ी इलाकों में गन्ने की खेती को नहीं कि जा सकती क्योंकि वहां की भूमि ढालू है। किसान अपने खेत में जैविक खाद का इस्तेमाल करें. इसके साथ ही किसान भाई गोबर को सड़ाकर उसे लास्ट जुताई से पहले खेतों में डालें . बुवाई करते समय दो बीजों के बीच की दूरी बनाएं. गन्ने के बीज को ज्यादा बुवाई करें, क्योंकि इससे गन्ना धीर-धीरे बढ़ता है एवं उसका वजन भी ज्यादा रहता है.

Important Links

Home page Click Here
Official Website Click Here
Admin

Recent Posts

UP Cane Registration 2023 : इस बार ऐसे भरे गन्ने का फॉर्म देखे सम्पूर्ण जानकारी

UP Cane Registration 2023 :- उत्तर प्रदेश राज्य की योगी सरकार हमेशा किसानों की मदद…

8 months ago

गन्ने की फसल मैं कौन सा उर्वरक डालें जिससे हमारा गन्ना लम्बा और मोटा हो जाए।

गन्ने की फसल मैं कौन सा उर्वरक डालें जिससे हमारा गन्ना लम्बा और मोटा हो…

8 months ago

इस महीने गन्ने की खेती में करें ये 5 काम, पैदावार बढ़ाने में मिलेगी मदद

इस महीने गन्ने की खेती में करें ये 5 काम, पैदावार बढ़ाने में मिलेगी मदद…

8 months ago

Rice Transplanter Machine: 3 घंटे में 1 एकड़ की धान रोपाई वाली बहुत ही सस्ती मशीन

Rice Transplanter Machine : धान की खेती अगर बेहद सस्‍ती मशीन से बिना समस्त लागत…

8 months ago

बार‍िश की कमी से प्रभाव‍ित हो सकती है गन्ने की फसल, कम हो सकता है चीनी उत्पादन

बार‍िश की कमी से प्रभाव‍ित हो सकती है गन्ने की फसल :एक तरफ राज्य में…

8 months ago

This website uses cookies.