18 जुलाई से फिर होगा किसानों का धरना , ग्रेटर नोएडा पर,प्रमाण पर लगाए वादाखिलाफी के दोष |

 ग्रेटर नोएडा के किसानो ने  एक बार फिर धरने पर बैठने  ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के खिलाफ पहले भी किसान 61 दिनों तक धरना दे चुके है.

ग्रेटर नोएडा के 39 से ज्यादा गांवों के किसानों ने अपनी प्रमुख मांगों को लेकर एक बार फिर ग्रेटर नोएडा  उत्पादन विकास प्रमाण लेकर धरना प्रदर्शन की घोसड़ा की  है| 

सरकार की तरफ से मिले आदेश अनुसार कमेटी निर्मित करने का फैसला वापस ले लिया गया है. 

उसके बाद ग्रेटर नोएडा के किसान काफी निराष हैं और किसान एक बार फिर 18 जुलाई से धरना करने का फैसला लिया है| 

किसानों के लिए 10% आबादी प्लाट, 17.5 % प्लॉट कोटा,  120 वर्ग मीटर के काम ,कम से कम क्षेत्र के प्लाट, बच्चों के लिए शिक्षा , बच्चों के लिए रोजगार | 

हमारे कठिन परिश्रम के बाद ग्रेटर नोएडा  उत्पादन  विकास प्राधिकरण और सरकार  की तरफ से भी विशवास मिला की एक कमेटी बनाई जायगी |

जब तक हमारी मांग को पूरा नहीं की जाती तब तक धरना प्रदर्शन जारी रखेंगे 18 जुलाई से ग्रेटर नोएडा उत्पादन विकास प्राधिकरण के सामने   होगा |